Breaking News
करीना-और-अभिषेक-ने-सोशल-मीडिया-पर-डेब्यू-फिल्म-को-याद-किया,-एक्ट्रेस-बोलीं-सुबह-चार-बजे-उठकर-खुद-से-एक-बात-कही

करीना और अभिषेक ने सोशल मीडिया पर डेब्यू फिल्म को याद किया, एक्ट्रेस बोलीं- सुबह चार बजे उठकर खुद से एक बात कही


जेपी दत्ता के निर्देशन में बनी फिल्म ‘रिफ्यूजी’ को रिलीज हुए मंगलवार (30 जून) को 20 साल पूरे हो गए। ये अभिषेक बच्चन और करीना कपूर की डेब्यू फिल्म भी थी और इन दोनों ने भी बॉलीवुड में 20 साल पूरे कर लिए। इस मौके पर दोनों स्टार्स ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखते हुए अपनी भावनाएं फैंस को बताईं। करीना के मुताबिक फिल्मों में आने का उनका फैसला उनके जीवन का सबसे अच्छा फैसला रहा।

करीना कपूर ने अपनी पहली फिल्म को याद करते हुए अपनी पोस्ट में लिखा, ‘मेरा पहला शॉट सुबह 4 बजे था…. आज सुबह भी मैं 4 बजे उठी, फिर आईना देखा और अपने आप से कहा कि ये मेरा अब तक का लिया सबसे अच्छा फैसला रहा। कड़ी मेहनत, समर्पण और आत्मविश्वास के 20 साल… आप सभी से मिले प्यार, समर्थन और शक्ति के लिए मैं अपने सभी प्रशंसकों की बेहद आभारी हूं।’

‘फिल्मों में मुझे जीवन देने के लिए जेपी दत्ता का… सबसे प्यारे सह-कलाकार होने के लिए अभिषेक बच्चन का… और इस फिल्म से जुड़े हर व्यक्ति का धन्यवाद। दोबारा उसी समय में जाना चाहती हूं… #20YearsAndNotGivingUp’ अपनी पोस्ट के साथ करीना ने फिल्म में अपने पहले शॉट का फोटो भी शेयर किया।

अभिषेक बच्चन बोले- वक्त का पता नहीं चलता जब आप खुश रहते हैं

रिफ्यूजी को याद करते हुए अभिषेक ने लिखा, ‘वक्त का पता भी नहीं चलता जब आप मौज में होते हैं… #रोडटू20। आज से 20 साल पहले जेपी दत्ता की ‘रिफ्यूजी’ रिलीज हुई थी। फिल्मों की दुनिया में सही मायनों में अपना और करीना कपूर खान का परिचय अंकित कर रहा हूं।

‘एक न्यूकमर को कुछ और नहीं चाहिए’

अभिषेक ने लिखा, ‘आपकी पहली फिल्म आपको हमेशा सबसे प्रिय और विशेष होती है। रिफ्यूजी भी अलग नहीं थी। एक अद्भुत अनुभव। एक न्यूकमर कुछ और नहीं मांगता। जेपी साहब सबसे बेहतरीन शिक्षक थे। वे मेरे लिए देखभाल, पोषण और मार्गदर्शन करने वाली शक्ति रहे हैं। कास्ट और क्रू की पूरी टीम काफी धैर्यवान, सहायक और उत्साहवर्धक थी। उन सभी के लिए मेरा प्यार और सम्मान असीम है। धन्यवाद।’

’20 साल तक बचे रहना अकल्पनीय सा है’

आगे उन्होंने बताया, ‘पीछे मुड़कर देखना और बीते 20 सालों को दोबारा गिनने में सक्षम होना किसी आशीर्वाद से कम नहीं है। कोई भी अभिनेता आपको बता देगा, कि फिल्म बनाने का मौका मिलना एक बहुत बड़ा सम्मान है। 20 साल तक बचे रहना अकल्पनीय सा लगता है। सबसे अच्छा हिस्सा ये है कि मुझे अब भी लगता है जैसे मैं शुरू ही कर रहा हूं। मेरे पास साबित करने के लिए अभी काफी कुछ है। साथ ही बहुत कुछ करना भी बाकी है, जिसके लिए मैं इंतजार नहीं कर सकता… हालांकि यह मेरे परिवार के बिना संभव नहीं था।’

‘परिवार पीछे देखेगा तो मुझ पर गर्व करेगा’

परिवार को लेकर अभिषेक ने लिखा, ‘वे मेरी प्रेरणा, मेरी ताकत, मेरे मौन समर्थक और मेरे अस्तित्व का कारण हैं। उन्होंने बिना किसी दबाव और किसी उम्मीद के बोझ के बिना मुझे इतनी आजादी दी कि मैं उस चीज का पता लगाऊं, जिस चीज को मुझे करने की जरूरत है। जब उन्हें मेरी कोई परफॉर्मेंस पसंद नहीं आई तो उन्होंने मुझे बताया और जब पसंद आई तो मुझ पर प्यार भी बरसाया। मैं उनकी वजह से हूं और मुझे उम्मीद है, किसी दिन जब वे मुड़कर देखेंगे और यादें ताजा करेंगे तो मुझ पर गर्व करेंगे।’

‘मुझे अभी बहुत दूर तक जाना है…’

‘लेकिन, अब यह अंत की तरह लग रहा है… इसके आसपास कहीं नहीं। जैसा कि मैंने कहा, ‘मैं अभी शुरू ही कर रहा हूं। और सोने से पहले मुझे बहुत दूर तक जाना है। जैसे कि महान सिनात्रा ने कहा था, रिकॉर्ड से पता चलता है, मैंने कितने वार और झटके सहे हैं, लेकिन फिर भी मैं रुका नहीं और अपनी तरह से करता रहा।’

##

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


अभिषेक बच्चन और करीना कपूर खान स्टारर फिल्म ‘रिफ्यूजी’ 30 जून 2000 को रिलीज हुई थी। जेपी दत्ता के निर्देशन में बनी इस फिल्म में रिफ्यूजी लोगों के दर्द को बताने की कोशिश की गई थी।

Check Also

फराह-खान-ने-बिना-फीस-लिए-‘दिल-बेचारा’-फिल्म-का-टाइटल-ट्रेक-किया-था-कोरियोग्राफ,-एक-ही-टेक-में-सुशांत-ने-दिया-था-परफेक्ट-शॉट

फराह खान ने बिना फीस लिए ‘दिल बेचारा’ फिल्म का टाइटल ट्रेक किया था कोरियोग्राफ, एक ही टेक में सुशांत ने दिया था परफेक्ट शॉट

🔊 Listen to this सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म दिल बेचारा है। उन्होंने जो …