Breaking News

संत सिंगाजी धाम मेले का मुख्य दिवस आज ओर कल। लाखो लोगो का उमड़ेगा जनसैलाब।प्रभारी मंत्री सहित अनेक नेता करेंगे दर्शन।

मनीज जैन बीड।

संत सिंगाजी धाम आज ओर कल मुख्य दिवस शरद पूर्णिमा मे लांखो की तादाद मैं श्रद्धालु पहुचेगे ।

एस ङी एम ने होम गार्ड नोका से बैक वाटर का दोरा कर सी ई ओ को अस्थाई धाट पर चेंकिग रुम बढाने को बोला

मेला ग्राउंड से लेकर मंदीर परिसर तक 250 से ज्यादा जवानो ओर महिला बल ने संभाली सुरक्षा की कमान ।

460 साल से जल रही अखंड ज्योत झाबुआ के महाराजा परिवार के निशान पहुचे महंत के निवास पर ।

कल शाम पांच बजे चढेगा मुख्य निशान संत सिंगाजी के नाम धांगा बाधकर महारानी को हुआ था पुत्र तब सेे आ रहे हैं निशान

मुख्य दिवस शरद पूर्णिमा पर प्रभारी मंत्री सिलावट होगे मुख्य अतिथि

बीड- संत सिंगाजी धाम के दस दिवसीय मेले के चोथे दिन बीस हज़ार से ज्यादा श्रद्धालु पहुचे आज ओर कल मुख्य दिवस शरद पूर्णिमा पर लांखो की तादाद मैं श्रद्धालुो के पहुचने की सभांवना के चलते मेला ग्राउंड से लेकर मदिंर परिसर सहित अन्य जगहो पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए ओर शाम तक मेला ग्राउंड पर बने पुलिस चौकी बीड के टेंट मैं जिले के सभी थाने चोकी होम गार्ड वन विभाग का 300 से ज्यादा जवानो ओर महिला बल पहुच गया जिनको तैनात किया गया वही एच डी एम पुनासा ममता खेडे ने होम गार्ड नोका दल की नाव के साथ बैक वाटर जलाशय के चारो तरफ तैयारी देखी जिसके बाद जनपथ सी ई ओ को अस्थाई धाट जो दूध तलाई के पास बनाया गया है यहा पर महिलाओं ओर बच्चो को कपडे बदलने की वयवसथा को देेखते हुए चेंजिग के लिए टेंट लगाने का बोला वही संत सिंगाजी धाम सुरक्षा के लिए आने वाले कुछ जवान जो पंचायत भवन मे रुके थे वहा पर उचित वयवसथा ना देख नाराज हुए ना सोने का ईंतजाम कर पाए जिम्मेदार लाईट ओर पंखे भी बंद थे

संत सिंगाजी के धागे बाधने से 60 साल की महारानी को हुआ पुत्र


पुराने लोगो से जानकारी के अनुसार लगभग 400 साल पहले निर्गुणी संत सिंगाजी महाराज के नाती दललु दास महाराज जब झाबुआ पहुचे यहा पर जनता से राजा बहादर सिह को पता चला की अपने यहा एक सिंगाजी भक्त आया है जिसके धागा बाधते ही नो महिने बाद संतान होती तब राजा ने अपनी बडी महारानी जो 60 साल के लगभग थी उनको धागा बंधवाया ओर नो महिने बाद उनके यहा पुत्र रत्न हुआ तब से लेकर आज तक संत सिंगाजी महाराज के धाम में शरद पूर्णिमा को झाबुआ के महाराजा के परिवार के यहा से निशान चढाया जाता है जो झाबुआ से गुरु पूर्णिमा को निकलता है ओर पैदल शरद पूर्णिमा के दो दिन पहले यहा पहुचता हैं शुक्रवार को सिंगाजी के मंहत के निवास पर यह निशान पहुच चुका है जिसको आज गाव मे धुमाया जाएगा ओर कल मुख्य दिवस शरद पूर्णिमा पर शांम पांच बजे चढेगा ओर महाआरती होगी

शरद पूर्णिमा को मंदीर समाधी पर होती है अमृत वर्षा धरो के उपर रखते हैं खीर

वही मंदिर के मंहत रतन महाराज ने बताया कि पूर्वजो के द्वारा मिली जानकारी के अनुसार मेले के मुख्य दिवस पर शरद पूर्णिमा के चांद से निकली किरण सीधे संत सिंगाजी महाराज की समाधी स्थल पर पडती हैं ओर उस समय के लिए अमृत वर्षा होती है यहा पर आस पास के गांव में खीर बनाई जाती हैं ओर धरो के उपर ऱखी जाती है दूसरे दिन सुबह पूरा परिवार खाता है खीर आज 460 साल से यहा पर निरंतर अंखड ज्योती जल रही है जिसके लिए लगने वाले धी खुद संत के भवत लेकर आते है बाहर से कोई नहीं लाता है मुख्य दिवस पर शांम पांच बजे चढेगा मुख्य निशान
I
मुखय दिवस पर प्रभारी मंत्री होगे मुख्य अतिथि

जानकारी के अनुसार कल शरद पूर्णिमा मुख्य दिवस मंदीर परिसर में निशान ओर आरती के आयोजन के बाद आयोजन कर्ता हरसूद जनपथ के द्वारा आतिशबाजी की जाएगी ओर मुख्य दिवस का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है जिसमे मुख्य अतिथि जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट मंत्री लोक सवासथ एवं परिवार कल्याण विशेष अतिथि सचिन यादव मंत्री किसान कल्याण तथा कृषी विकास विभाग नंद कुमार सिंग चोहान सांसद खंडवा दुर्गा दास उईके सांसद बैतूल अध्यक्षता नारायण पटेल मांधाता विधायक विशिष्ट अतिथि कु, विजय शाह विधायक हरसूद हसीना भाटे अध्यक्ष जिला पंचायत तुलसी राम नागर अध्यक्ष हरसूद जनपद दोलत पटेल जिला पंचायत सदस्य पूनम चौहान सभापती कृषी स्थाई समिती हरसूद जनपद सहित हरसूद जनपद के उपाध्यक्ष सहित जनपथ सदस्यो की मोजूदगी में होगा जिसको लेकर जनपथ ने तैयारी तेज कर दी है

Check Also

4.40-करोड़-की-जमीन-का-विवाद;-भाई-ने-चचेरी-बहन-को-घर-से-बाहर-खींचकर-चप्पलों-से-की-पिटाई,-सड़क-पर-घसीटा-भी

4.40 करोड़ की जमीन का विवाद; भाई ने चचेरी बहन को घर से बाहर खींचकर चप्पलों से की पिटाई, सड़क पर घसीटा भी

🔊 Listen to this कैंट रोड सेल्स टैक्स ऑफिस के सामने एक युवती के साथ …