Breaking News

नर्मदा जी की लहरों के बीच आस्था का अनंत श्रद्धास्थल संत सिंगाजी धाम। संत सिंगाजी के दर्शन को आते है लाखो श्रद्धालु । खराब सड़क,घाटो की कमी और अनेक सुविधाओ की आवश्यकता है इस पावन तीर्थ पर

बीड एवम सिंगाजी धाम से मनोज जैन

नर्मदा जी की लहरों के बीच आस्था का अनंत श्रद्धास्थल
संत सिंगाजी धाम।
संत सिंगाजी के दर्शन को आते है लाखो श्रद्धालु ।
खराब सड़क,घाटो की कमी और अनेक सुविधाओ की आवश्यकता है इस पावन तीर्थ पर।


खंडवा जिले में हरसुद ब्लाक के सिंगाजी गाव में इंदिरासागर बांध के अथाह नर्मदा बैक वाटर के बीचोबीच स्थित लाखो लोगों की आस्था का केंद्र है संत सिंगाजी का पावनधाम ।

वैसे यो इस पावन समाधि पर साल भर भारी संख्या में श्रद्धालुओ का तांता लगा रहता है लेकिन वर्तमान में चल रहे मेले में लाखों भक्तजन संत सिंगाजी के पावन निशान ओर पवन ज्योत के दर्शन कर अपने आपको धन्य समझते है।

हालांकि मेले के दौरान खंडवा जिला प्रशासन एवम हरसूद जनपद क्षेत्र के सभी अधिकारी व राजस्व विभाग ने मेले में आने वाले लाखों लोगों को अधिक से अधिक सुविधाएं उपलब्ध करवाने का प्रयास किया है वही पुलिस विभाग द्वारा व्यापक सुरक्षा प्रबंध किया गया है।

बतादे कि संत सिंगाजी निमाड़ के बहुत बड़े संत थे।उन्होंने अपने गुरु जी के कहने पर यहां समाधि ली थी ओर अपना शरीर त्यागा था।तब से ही यह स्थान संत सिंगाजी की समाधि के रूप में लाखों लोगों की आस्था का केंद्र बन गया। यहाँ बाबा के दरबार मे आने वाले लोग अपनी अपनी मनोती मांगते है और यहां लोगो की मुराद पूरी होती है।इसी लिए दूर दूर से लोग यहां आते है।

हालांकि इतना बड़ा तीर्थ होते हुए भी बीड से सिंगाजी आने वाले मार्ग पर बड़े बड़े गड्ढे हो रहे है जिससे वाहनों से आने वाले लोगो को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।आज़ाद हिंदुस्तान लाइव पर खबर दिखाने के बाद अब प्रशासन ने कल से इस सड़क के गड्ढे भरना ओर डामर का पेचवर्क करना प्रारंभ किया है।

यहां की व्यवस्था की जिम्मेदारी सम्हालने वाले महंत श्री रतन लाल जी ने आज़ाद हिंदुस्तान लाइव को बताया कि शाशन द्वारा समाधि पहुंच मार्ग बनाया है।लेकिन मेले ओर कुछ प्रमुख दिनों में श्रधालुओ की संख्या बहुत बढ़ जाती है ऐसे में यह मार्ग अपर्याय रहता है ।यदि एक ओर पहुंच मार्ग बन जाये तो बहुत सुविधा होगी।

यहां स्नान करने के लिए पर्याप्त घाट नही है उसकी व्यवस्था होना चाहिए साथ ही बीड से संतसिंगाजी धाम आने वाले मार्ग की देख रेख बहुत जरूरी है।

आज आज़ाद हिंदुस्तान लाइव की टीम ने यहां दौरा कर समाधि स्थल की पूरी व्यवस्थाओ का जायजा लिया।इससे यह लगा कि नर्मदा के अथाह बैक वाटर में स्थित संत सिंगाजी की समाधि देश के सबसे रमणीय ओर प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण धार्मिक स्थल है।यदि शासन यहां की मूलभूत व्यबस्थाओ पर थोड़ा सा ध्यान दे तो यह स्थान देश के सबसे अच्छे धार्मिक और पर्यटन स्थल के रूप में विकसित हो सकता है।

संत सिंगाजी पावन समाधि धाम से मनोज जैन बीड की खास रिपोर्ट

Check Also

4.40-करोड़-की-जमीन-का-विवाद;-भाई-ने-चचेरी-बहन-को-घर-से-बाहर-खींचकर-चप्पलों-से-की-पिटाई,-सड़क-पर-घसीटा-भी

4.40 करोड़ की जमीन का विवाद; भाई ने चचेरी बहन को घर से बाहर खींचकर चप्पलों से की पिटाई, सड़क पर घसीटा भी

🔊 Listen to this कैंट रोड सेल्स टैक्स ऑफिस के सामने एक युवती के साथ …